Headline
धुंआधार प्रचार में जुटे मुख्यमंत्री धामी, लोकसभा चुनाव में झोंकी ताकत
आईपीएल 2024- कोलकाता नाइट राइडर्स और राजस्थान रॉयल्स के बीच मुकाबला आज 
उत्तराखण्ड के पूर्व डीजीपी की बेटी कुहू गर्ग का आईपीएस में चयन
एलन मस्क ने नए यूजर्स के लिए की बड़ी प्लानिंग, पोस्ट करने के लिए देने होंगे पैसे 
लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपा ने उम्मीदवारों की 12वीं सूची की जारी
वर्कआउट के दौरान ज्यादा पानी पीना हो सकता है खतरनाक, जानें कैसे?
मुख्यमंत्री धामी ने भाजपा के संकल्प पत्र के संबंध में की प्रेस वार्ता
चारधाम यात्रा के लिए ऑनलाइन पूजा बुकिंग शुरू, इस वेबसाइट पर करे पंजीकरण
सांसदों के गोद लिए गांवों की दुर्दशा का कारण बताए भाजपा – करन माहरा

कहीं आप भी इस तरीके से तो नहीं खाते हैं सेब? सेहत के लिए है नुकसानदायक

सेब वैसे तो हर मौसम में मिल जाती है लेकिन सर्दियों में बेहद अच्छे-अच्छे सेब दिखाई देते हैं. सेब ढेर सारी पोषक तत्वों से भरपूर होता है. जिसमें ड्राइट्री फाइबर, पोटैशियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, विटामिन सी, बी 6, विटामिन ई, विटामिन के, प्रोटीन, कार्ब्स और एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सेब भी काफी ज्यादा एसिडिक होता है. इसमें पीएच लेवल 3 और 3.5 तक हो सकता है। वैसे तो यह नींबू के मुकाबले कम एसिडिक होता है. लेकिन इसके बावजूद सेब को आप सब तरह डाइट के साथ नहीं खा सकते हैं।  डाइटिशियन की मानें तो आप सेब खाते समय अक्सर कुछ खास गलतियां कर बैठते हैं जो आपको नहीं करनी चाहिए. सेब खाते समय इन बातों का खास ध्यान रखें।

सेब खाने का सही वक्त क्या होता है?
जिन लोगों को गैस और अपच यानि पेट संबंधी परेशानी है तो उन्हें खाली पेट सेब खाने से बचना चाहिए. खाना खाने के 2 घंटे ही सेब खाना चहिए।

डेयरी प्रोडक्ट के साथ सेब बिल्कुल न खाएं
कुछ लोग डेयरी प्रोडक्ट के साथ सेब खा लेते हैं. जैसे दूध, दही, चीज, बटर के साथ सेब खा लेते हैं. लेकिन ऐसा करने से बचना चाहिए. क्योंकि सेब में साइट्रिक एसिड होता है जो दूध वाली चीजों के साथ मिलकर रिएक्शन कर सकता है. जिसके कारण इसे पचने में दिक्कत हो सकती है. बाजारों में मिलने वाले एप्पल शेक इसलिए नहीं पीना चाहिए क्योंकि वो दूध में मिलाकर बनाए जाते हैं. जिसका असर आंत पर भी होता है. दूध के साथ सेब खाने से इसका असर स्किन संबंधी परेशानी भी बढ़ा सकती है. स्किन संबंधी डिसऑर्डर, सोरायसिस, एक्जिमा आदि।

काटने के बाद सेब को ज्यादा देर न रखें
आपने अक्सर देखा होगा कि सेब, केला, आलू, नाशपाती में पॉलीफेनॉल ऑक्सीडेज एंजाइम होते हैं. जो काटने के बाद उसके एंजाइम हवा के संपर्क में आते हैं तो आयरन से भरपूर फिनोल के साथ रिएक्ट करता है. इसके कारण काटने के बाद वह पीला और काला हो जाता है।

सेब खाते समय किन बातों पर दें ध्यान
खाते वक्त सेब को छीलकर खाना चाहिए. क्योंकि उसमें मौजूद जो वैक्स या कैमिकल्स होते हैं उनसे आप बच सकते हैं।
अगर आप अपने बच्चे को लंच बॉक्स में सेब दे रहे हैं तो उसमें एक चुटकी नमक मिला लें. और फिर गर्म पानी में भिगो दें. ऐसा करने से सेब पीला या ब्राउन कलर का नहीं होगा. सााथ ही उसका पीएच लेवल भी अच्छा रहेगा. सेब को खाने से पहले अच्छी तरह से वॉश करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top