Headline
कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अंकिता मर्डर केस के वीआईपी का नाम बताओ के लगाए नारे
भारतीय सेना ने स्वदेश निर्मित टैंक रोधी मिसाइल प्रणाली का किया सफल परीक्षण 
18 वर्षीय युवती की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत, दादी ने लगाया भाई और मामा पर हत्या का आरोप
सीएम योगी आदित्यनाथ आज राजधानी देहरादून के बन्नू स्कूल में जनसभा को करेंगे संबोधित
गैस के कारण शरीर के इन अंगों में होने लगता है गंभीर दर्द, लक्षणों को देख ऐसे करें पहचान
मुख्यमंत्री ने टनकपुर में भाजपा के पक्ष में किया प्रचार
राहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा- 70 करोड़ भारतीयों से ज़्यादा संपत्ति प्रधानमंत्री के अमीरों के पास
उत्तराखंड की जनता और हमें मालूम है शहादत व त्याग का मतलब – प्रियंका गांधी
योगी- धामी में दिखी गजब की बॉन्डिंग

चारधाम यात्रा की तैयारियों में जुटा स्वास्थ्य महकमा

बदरीनाथ-केदारनाथ में मिलेगी बेहतर स्वास्थ्य सुविधा

उत्तराखण्ड के कई अस्पताल होंगे उच्चीकृत

देहरादून। चारधाम यात्रा के दौरान इस बार तीर्थयात्रियों को बदरीनाथ-केदारनाथ के अस्पतालों में बेहतर सुविधाएं मिलेंगी। कैबिनेट ने दोनों अस्पतालों में उपकरण खरीद के लिए शॉर्ट टर्म टेंडर की मंजूरी दे दी है। सचिव स्वास्थ्य डॉ. आर राजेश कुमार ने बताया कि बदरीनाथ अस्पताल के लिए साढ़े छह करोड़ जबकि केदारनाथ अस्पताल के लिए चार करोड़ रुपये से एक्सरे, अल्ट्रासाउंड, ईसीजी मशीनों के साथ कई और उपकरण खरीदे जाने हैं। इससे यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं को परेशानी होने पर जांच की सुविधा मिल पाएगी। साथ ही हायर सेंटर रेफर होने से पहले ही इलाज शुरू हो पाएगा। डॉ. कुमार ने बताया कि शॉर्ट टर्म टेंडर के तहत उपकरण खरीद को सात दिन में कंपनियां आमंत्रित की जाती हैं जब कि सामान्य टेंडर में वक्त लगता है।

उत्तराखण्ड के कई अस्पताल होंगे उच्चीकृत

सरकार ने पुरोला, मोरी, सितारगंज, झबरेड़ा और दुगड्डा के साथ राज्य के कई अस्पतालों को उच्चीकृत करने का फैसला लिया है। इस संदर्भ में स्वास्थ्य विभाग की ओर से आदेश भी कर दिए गए हैं।

राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में लंबे समय से अस्पतालों के उच्चीकरण की मांग चूल रही थी। इसको देखते हुए सरकार ने करीब एक दर्जन अस्पतालों को उच्चीकृत कर दिया है। सचिव स्वास्थ्य डॉ. आर राजेश कुमार ने बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पुरोला को उपजिला अस्पताल के रूप में उच्चीकृत किया गया है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मोरी को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के रूप में उच्चीकृत किया गया है। इसी तरह प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र झबरेड़ा को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, पौड़ी के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दुगड्डा को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सितारगंज को उपजिला अस्पताल के रूप में उच्चीकृत किया गया है। सरकार के इस आदेश के बाद अब इन अस्पतालों में डॉक्टरों की तैनाती के साथ ही अन्य सुविधाओं के विकास पर भी फोकस किया जा रहा है। इससे पहले उत्तराखंड सरकार ने थलीसैंण, ऊखीमठ और बड़कोट के अस्पताल के भी उच्चीकरण का फैसला लिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top