Headline
फिल्म शैतान का ट्रेलर रिलीज, आर माधवन की शैतानी चाल से परिवार को बचाते दिखे अजय देवगन
प्रखर राष्ट्रवादी संत थे जगद्गुरू स्वामी प्रकाशानंद- महाराज
सीएम योगी का बड़ा फैसला, यूपी पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा रद्द, जानें अब कब होगा एग्जाम
कारमांता शहर में एक हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त, चार पुलिस अधिकारियों की मौत
कांग्रेस और आप ने किया गठबंधन का ऐलान, जानें कहां और कितने सीटो पर तय हुई बात
…तो ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना की वजह से सूख रहे पहाड़ी जल स्रोत
राजकीय इंटर कॉलेज व बालिका इंटर कॉलेजों का होगा एकीकरण- डॉ. धन सिंह रावत
बालों की ग्रोथ को करना है फास्ट, तो अपनाएं ये नेचुरल तरीके
आतंक का पर्याय बने गुलदार को शिकारियों ने किया ढेर

राज्यपाल ने राजभवन एवं परेड ग्राउंड में फहराया राष्ट्रीय ध्वज

सराहनीय सेवाओं के लिए पुलिस अधिकारियों को सम्मानित किया

सूचना विभाग की झांकी को प्रथम, ग्राम्य विकास विभाग को द्वितीय व उद्यान विभाग की झांकी को तृतीय स्थान मिला

परेड करने वाली टुकड़ियों में प्रथम स्थान पर केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल, द्वितीय स्थान पर आईटीबीपी और तृतीय स्थान पर 40 वी वाहिनी महिला दल रहीं

देहरादून। 75 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) ने परेड ग्राउंड में आयोजित गणतंत्र दिवस के मुख्य समारोह में राष्ट्रीय ध्वज फहराया और परेड की सलामी ली। प्रदेश के लोक कलाकारों ने सांस्कृतिक लोक नृत्य का मनोहारी प्रदर्शन किया। इस अवसर पर राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) और मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले पुलिस कर्मियों को उनकी सराहनीय सेवाओं के लिए सम्मानित किया गया। (सूची संलग्न है।)

परेड ग्राउंड में आयोजित गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम के दौरान महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग, ग्राम्य विकास, पर्यटन विभाग, उद्यान विभाग, सूचना विभाग, शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग, वन विभाग, उद्योग विभाग द्वारा विभिन्न कार्यक्रमों, योजनाओं तथा नीतियों पर आधारित झांकियों का भी प्रदर्शन किया गया। इस प्रदर्शन में सूचना विभाग की झांकी को प्रथम, ग्राम्य विकास विभाग को द्वितीय तथा उद्यान विभाग की झाँकी को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ, जिन्हें राज्यपाल और मुख्यमंत्री द्वारा सम्मानित किया गया।

समारोह में सेना जी0आर0 5/1 रेजिमेन्ट, सी0आर0पी0एफ0, आई०टी०बी०पी०, उत्तर प्रदेश पुलिस, 40वीं वाहिनी पीएसी, 40 वी वाहिनी महिला दल, उत्तराखण्ड होमगार्ड्स, प्रान्तीय रक्षक दल, एन०सी०सी ब्याइज, एन०सी०सी गर्ल्स, अश्व दल, पुलिस संचार, अग्निशमन, सी०पी०यू० ने भव्य परेड में प्रतिभाग किया। परेड करने वाली टुकड़ियों में प्रथम स्थान पर सीआरपीएफ, द्वितीय स्थान पर आईटीबीपी और तृतीय स्थान पर 40 वी वाहिनी महिला दल रहीं, जिन्हें राज्यपाल और मुख्यमंत्री द्वारा सम्मानित किया गया।

 

परेड ग्राउंड में आयोजित गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम में विभिन्न सांस्कृतिक दलों द्वारा छोलिया नृत्य, गढ़वाली नृत्य, छपेली, भांगडा, हारूल नृत्य आदि का महमोहक प्रदर्शन किया जिसका उपस्थित दर्शकों ने खूब आनंद लिया।

परेड ग्राउंड में आयोजित इस समारोह में प्रथम महिला श्रीमती गुरमीत कौर, मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी श्रीमती गीता धामी, कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल, सांसद, माला राज्यलक्ष्मी, सांसद नरेश बंसल, विधायक खजान दास, जिला पंचायत अध्यक्ष, देहरादून मधु चौहान, मुख्य सचिव डॉ.एस.एस.संधु, डी.जी.पी. अभिनव कुमार, अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी, अपर मुख्य सचिव आनंद बर्द्धन, सचिव राज्यपाल रविनाथ रामन, महानिदेशक सूचना बंशीधर तिवारी, जिलाधिकारी देहरादून श्रीमती सोनिका, एसएसपी अजय सिंह सहित पुलिस तथा प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी गण, जनप्रतिनिधि एवं जनसामान्य भी उपस्थित रहा।

राज्यपाल ने राजभवन में राष्ट्रीय ध्वज फहराया

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजभवन में राष्ट्रीय ध्वज फहराया। उन्होंने देश की आजादी के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर करने वाले आजादी के महानायकों व संविधान निर्माताओं के प्रति सम्मान और आभार व्यक्त करते हुए उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी।

राज्यपाल ने ‘‘देवभूमि संवाद’’ का विमोचन किया

इस अवसर पर राज्यपाल ने राजभवन उत्तराखंड की पत्रिका ‘‘देवभूमि संवाद’’ का विमोचन किया। राजभवन उत्तराखंड की पत्रिका देवभूमि संवाद का प्रकाशन प्रत्येक 06 माह में किया जाता है। इस पत्रिका में राज्यपाल के कार्यक्रमों, बैठकों, भाषणों सहित अन्य गतिविधियों को अंकित किया गया है। देवभूमि संवाद का संपादन संयुक्त निदेशक सूचना डॉ. नितिन उपाध्याय, सह संपादन अर्जुन पटवाल, सहयोग सूचना अधिकारी अजनेश राणा द्वारा किया गया है।

इस अवसर पर मीडिया से बात करते हुए राज्यपाल ने कहा कि आज का दिन बेहद खास है। गणतंत्र के 75वें वर्ष में प्रवेश कर लिया है यह हमारी अमृत महोत्सव के साथ-साथ अमृतकाल का भी दिन है जो हमें प्रेरित करता है कि हम किस प्रकार विकसित राष्ट्र, सर्वश्रेष्ठ राष्ट्र और आत्मनिर्भर भारत के लिए संकल्प लें।

राज्यपाल ने कहा कि साल 2023 भारतवर्ष के लिए भी उपलब्धियों से भरा रहा। भारत ने जी-20 की अध्यक्षता कर पूरी दुनिया को जहां एक ओर वसुधैव कुटुंबकम का संदेश दिया, वहीं दूसरी ओर अपनी वैश्विक नेतृत्व की क्षमता को प्रदर्शित किया। चंद्रयान-3 लॉन्च कर भारत चांद के दक्षिणी ध्रुव पर लैंडिंग करने वाला पहला देश बना। दुनिया के सबसे तेज 5-G रोलआउट को हासिल करना, डिजिटल पेमेंट में सबसे ऊपर रहना और सौर मिशन आदित्य एल-1 सहित एशियन गेम्स में 100 से अधिक मेडल जीतना दर्शाता है कि हम मिशन-2047 की ओर सही और स्पष्ट रूप से आगे बढ़ रहे हैं।

राज्यपाल ने कहा कि देश के विकास के साथ युवा उत्तराखंड भी प्रगति के पथ पर निरंतर अग्रसर है। हमने गत 24 वर्षों में कई उपलब्धियां हासिल की हैं किन्तु सर्वश्रेष्ठ राज्य बनने के लिए अभी हमें लंबा सफर तय करना है। उन्होंने कहा कि साल 2024 में हम सभी का समर्पण भाव इच्छा शक्ति और कार्य शैली हमारे प्रदेश की दशा और दिशा तय करने वाली है। इसलिए उत्तराखण्ड को इस दशक में देश का विकसित, सर्वश्रेष्ठ एवं अग्रणी राज्य बनाने के लिए हम सबको संकल्प, सिद्धि, और सामर्थ्य के साथ अपना योगदान करना होगा।

राज्यपाल ने कहा कि वर्ष 2023 में उत्तराखंड में हुए वैश्विक निवेशक सम्मेलन, छठें विश्व आपदा प्रबंधन सम्मेलन, रेलवे-रोपवे, रोडवे एवं एयरवे का तीव्र विकास, स्वास्थ्य और पर्यटन सहित कई क्षेत्रों में यह साल राज्य के लिए उपलब्धियों से भरा रहा। देश में हुए जी-20 सम्मेलन से जुड़ी तीन बैठकों की मेजबानी से उत्तराखंड ने इस वर्ष देश-दुनिया का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया।

राज्यपाल ने कहा कि प्रदेश के युवा हमारी ताकत हैं। युवा देश एवं राज्य के वर्तमान भी हैं और भविष्य भी हैं। उन्होंने कहा कि युवाओं का सामर्थ्य सेवाभाव, लगन, देश, प्रदेश, व समाज को नई ऊंचाई पर ले जाएगा। उनके प्रयास, परिश्रम और शक्ति के बूते ही विकसित भारत, आत्मनिर्भर भारत और सर्वश्रेष्ठ भारत के लक्ष्य को पूरा किया जा सकता है।

राज्यपाल ने कहा कि उत्तराखण्ड प्रदेश आज हर क्षेत्र में लगातार आगे बढ़ रहा है। युवाओं के लिए रोजगार हो, या किसान, मातृशक्ति के लिए चल रही योजनाओं से यह स्पष्ट है कि प्रदेश सरकार राज्य के हर वर्ग के लिए संवेदनशील होकर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य के विकास का नया अध्याय लिखने के लिए हर व्यक्ति के योगदान की आवश्यकता है। विशेषकर मातृशक्ति, युवा शक्ति और साथ ही साथ पूर्व सैनिकों की अहम भागीदारी से उत्तराखंड को सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाया जा सकता है।

परेड ग्राउंड में 75 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर जिन अधिकारियों/कर्मचारियों को उत्कृष्ट सेवा के लिए पदक प्रदान किये गये, का विवरण निम्नवत हैः-

1- अभिनव कुमार, पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड । (राष्ट्रपति का पुलिस पदक)
2- डॉ० वी० मुरूगेशन, अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध अनुसंधान विभाग/निदेशक सतर्कता उत्तराखण्ड । (राष्ट्रपति का पुलिस पदक)
3- धन सिंह तोमर, पुलिस उपाधीक्षक (से०नि०) जनपद चमोली। (पुलिस पदक)
4- रमेश चन्द्र भट्ट, उ0नि0 वि०श्रे० (से०नि०) जनपद चम्पावत। (पुलिस पदक)
5- महेश चन्द्र चन्दोला, निरीक्षक (एम)/गोपनीय सहायक (से०नि०) अभि०/सुरक्षा मुख्यालय। (पुलिस पदक)

गणतंत्र दिवस -2024 के अवसर पर घोषित राज्यपाल उत्कृष्ठ सेवा पदक से राज्य पुलिस बल के अधिकारियों/कर्मचारियों का पदक अलंकरण किया गया-

1- विपिन चन्द्र पन्त, पुलिस उपाधीक्षक, जनपद चम्पावत।
2- गजपाल सिह रावत, प्लाटून कमाण्डर, मा० मुख्यमंत्री सुरक्षा उत्तराखण्ड।
3- धनी लाल अपर गुल्मनायक, 40वीं वाहिनी पीएसी हरिद्वार।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top