Headline
बार-बार सर्दी जुकाम सिर्फ इम्युनिटी कमजोर होने के लक्षण नहीं बल्कि इन बीमारियों के हो सकते हैं संकेत
पैथोलॉजी लैब संचालिका के साथ दुष्कर्म के प्रयास के मामले में राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष ने लिया संज्ञान 
उपचुनाव में भाजपा को बड़ा झटका, जानिए 13 विधानसभा सीटों का फाइनल रिजल्ट
महासंघ ने कठुआ हमले में शहीदों की याद में किया वृक्षारोपण
देहरादून स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने जीता स्कॉच अवार्ड 2024
देश में फैल रही बदहाली
अग्निवीर योजना सक्षम सैनिक, सशक्त सेना की दिशा में क्रांतिकारी कदम – जोशी
जान्हवी कपूर की उलझ के नए पोस्टर ने बढ़ाया प्रशंसकों का उत्साह, अजय देवगन को टक्कर देने के लिए तैयार अभिनेत्री
एससी एसटी (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत लंबित मामलों के निस्तारण पर जोर

भूस्खलन से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद, हाईवे को खोलने का काम जारी

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में मौसम के मिजाज तीखे रहे। गुलमर्ग व माता वैष्णो देवी के त्रिकुटा पर्वत समेत सभी ऊपरी क्षेत्रों में बर्फबारी और जम्मू व श्रीनगर सहित सभी निचले इलाकों में दिनभर रुक-रुक कर वर्ष जारी रही। रामबन जिला में एक दर्जन से अधिक स्थानों पर भूस्खलन से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग सुबह बंद हो गया। इससे हाईवे पर जगह-जगह वाहनों की लंबी कतारें लग गई हैं। हाईवे को खोलने का काम युद्धस्तर पर जारी है। वहीं पुंछ के रास्ते कश्मीर को जोड़ने वाला मुगल रोड़ पहले ही बर्फबारी के चलते बंद है। ऐसे में अब जम्मू-श्रीनगर हाईवे बंद होने से कश्मीर का सड़क संपर्क पूरी तरह कट गया है। इस बीच, मौसम विभाग के अनुसार, दो दिन और वर्षा व हिमपात की संभावना है।

इसके साथ विभाग ने ऊपरी पहाड़ी क्षेत्रों में हिमस्खलन की चेतावनी जारी कर लोगों को सतर्कता बरतने की सलाह दी है। रामबन जिला में रविवार को हल्की बारिश के बावजूद जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर वाहनों की आवाजाही प्रभावित नहीं हुई, लेकिन सोमवार तेज वर्षा के कारण सुबह करीब दस बजे कैफेटेरिया मोड, मेहाड़, तबीला, चमलवास, शालगड़ी सहित एक दर्जन से अधिक स्थानों पर पस्सियां और पत्थर गिरने से हाईवे बंद हो गया।

इसके बाद ऊधमपुर के जखैनी से वाहनों के कश्मीर की तरफ जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया। हालांकि इस दौरान पत्नीटॉप, बटोत, किश्तवाड़, भद्रवाह, चिनैनी जाने वाले वाहनों को जाने की अनुमित मिलती रही। वहीं, हाईवे पर कई स्थानों पर रोके गए वाहनों में सवार यात्रियों व चालकों को शौचालय, पीने का पानी व खाने की सुविधा न मिलने के कारण काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top