Headline
लोकसभा चुनाव के बाद आज होगी धामी सरकार की पहली कैबिनेट बैठक
शेयर बाजार में बढ़त बरकरार, सेंसेक्स 200 अंक चढ़ा, निफ्टी 23600 के पार
नैनीताल, भीमताल और कैंची धाम जाने वाले लोगों के लिए जरुरी खबर, पुलिस ने जारी किया नया यातायात प्लान 
हल्द्वानी की दो नाबालिग हुई लापता, परिजनों ने मोहल्ले के किशोर पर लगाया भगाने का आरोप
आंखों के काले घेरों से छुटकारा चाहते हैं? आजमाएं ये प्रभावी घरेलू नुस्खे
योग, प्राणायाम की छात्र छात्राओं के मानसिक, शाररिक और व्यक्तित्व विकास में महत्वपूर्ण भूमिका- अरुण चमोली
देश में लागू हुआ एंटी पेपर लीक कानून, अधिसूचना जारी 
सीएम धामी ने पैतृक गांव डीडीहाट पहुंचकर स्वजनों से की भेट
गर्मी से हाल बेहाल और जल संकट

150 तरीके के होते हैं सिर दर्द, सबसे खतरनाक होता है माइग्रेन, जानें इसका कारण और बचाव

आजकल स्ट्रेस, अनहेल्दी लाइफस्टाइल और खानपान के कारण हमारे शरीर के अंगों पर कई गंभीर असर पड़ते हैं. जिनमें से एक माइग्रेन भी है, जिसमें भयंकर सिर दर्द होता है। लेकिन अधिकतर लोग आम सिर दर्द को माइग्रेन समझ लेते हैं या माइग्रेन के दर्द को आम सिर दर्द समझ कर इसे नजरअंदाज कर देते हैं। लेकिन आपको माइग्रेन के इन पांच मूल कारणों के बारे में पता होना चाहिए, जिससे माइग्रेन ट्रिगर हो सकता है और आपकी स्थिति को और ज्यादा खराब कर सकता है।

जेनेटिक हो सकता है माइग्रेन
जी हां, डॉक्टरों का मानना है कि माइग्रेन अक्सर फैमिली हिस्ट्री से जुड़ा हुआ होता है. यदि आपके किसी फैमिली मेंबर को पहले से माइग्रेन की समस्या है, तो यह संभावना है कि आपको भी माइग्रेन की समस्या हो सकती है।

हार्मोनल चेंज
माइग्रेन के अन्य कारणों में से एक हार्मोनल चेंजेस भी है। खासकर महिलाओं के हार्मोन में पीरियड्स या प्रेगनेंसी की दौरान उतार-चढ़ाव होते हैं, उससे माइग्रेन ट्रिगर हो सकता है. दरअसल, शरीर में एस्ट्रोजन के लेवल में बदलाव होने के कारण माइग्रेन की स्थिति और गंभीर हो सकती है।

पर्यावरणीय कारक
कई बार पर्यावरणीय कारक भी माइग्रेन को ट्रिगर कर सकते हैं. जैसे तेज धूप, टिमटिमाती रोशनी, तेज गंध, तेज आवाज, मौसम में बार-बार बदलाव होना भी माइग्रेन के दर्द को बढ़ा सकता है।

खाने पीने की हैबिट
जी हां, कुछ खाद्य पदार्थ और ड्रिंक माइग्रेन को ट्रिगर करने के लिए जाने जाते हैं. खासकर अल्कोहल, कैफीन, प्रोसेस्ड मीट और मोनोसोडियम युक्त खाद्य पदार्थ और ड्रिंक का सेवन करना माइग्रेन को ट्रिगर कर सकता है। इसके अलावा खाने में बहुत ज्यादा गैप करना या उपवास करना भी माइग्रेन के दर्द को बढ़ा सकता है।

स्ट्रेस और तनाव
स्ट्रेस और तनाव माइग्रेन को बढ़ाने का सबसे बड़ा कारण हो सकता है। जब आप तनाव, चिंता या डिप्रेशन का शिकार होते हैं, तो आपके दिमाग पर इसका असर पड़ता है और यह माइग्रेन को ट्रिगर करके इसके दर्द को बढ़ा सकता है। इसके लिए आपको माइंडफुलनेस ध्यान, योग, फिजिकल एक्टिविटी और पर्याप्त नींद लेना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top