Headline
शिक्षकों को सम्पूर्ण सेवा काल में एक बार मिलेगा संवर्ग परिवर्तन का मौका
पाकिस्तान के पूर्व मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने इण्डिया गठबंधन को दी शुभकामनाएं, कहा- सब चाहते है पीएम मोदी हारें…
उपराष्ट्रपति के उत्तराखण्ड दौरे की तैयारी को दिया फाइनल टच
सीएम धामी ने स्वर्ण मंदिर में मत्था टेका
विक्रांत मैसी और मौनी रॉय स्टारर फिल्म ब्लैकआउट का दमदार टीजर हुआ रिलीज, 7 जून को जियो सिनेमा पर होगा प्रीमियर
मुख्यमंत्री के निर्देशों पर उत्तराखण्ड स्वास्थ्य विभाग ने अस्पतालों के लिए जारी की अग्नि सुरक्षा एडवाइजरी
विपक्षी पार्टियों को सबक सिखाकर, भाजपा को समर्थन देगी जनता- सीएम
आप भी करवा रही हैं लिप फिलर? ये बात ध्यान रखें वरना होठों को हो सकता है नुकसान
बेसिक शिक्षकों के 3600 पदों पर होगी भर्ती

उत्तराखंड की सभी पांच संसदीय सीटों के लिए कल एक साथ होगा मतदान 

सुबह सात बजे से शुरु होगा मतदान 

12 वैकल्पिक पहचान दस्तावेज दिखाकर कर सकते है मतदान

देहरादून। लोकसभा चुनाव के तहत प्रथम चरण में कल यानी 19 अप्रैल को उत्‍तराखंड में मतदान होना है। उत्‍तराखंड की सभी पांच संसदीय सीटों के लिए कल एक साथ मतदान होगा। बता दें कि राज्‍य में कुल 55 प्रत्‍याशी इन चुनावों में अपना भाग्‍य आजमा रहे हैं। वहीं कल यानी शुक्रवार को सुबह सात बजे से ही मतदान शुरू हो जाएगा। लोकसभा चुनाव में मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग बिना किसी परेशानी के कर सकेंगे। किसी वोटर का नाम मतदाता सूची में दर्ज है, लेकिन उसके पास निर्वाचक फोटो पहचान पत्र उपलब्ध नहीं है तो वह 12 वैकल्पिक पहचान दस्तावेज दिखाकर मतदान कर सकता है।

चंपावत के जिला निर्वाचन अधिकारी नवनीत पांडे ने बताया कि 12 वैकल्पिक फोटोयुक्त पहचान दस्तावेजों में आधार कार्ड, मनरेगा जाब कार्ड, बैंक, डाकघर की फोटो युक्त पासबुक, श्रम मंत्रालय की योजना के अंतर्गत जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, स्मार्ट कार्ड, पासपोर्ट, केंद्र और राज्य सरकार के लोक उपक्रम, प्राइवेट लिमिटेड कंपनियों की ओर से कर्मियों को जारी किए गए फोटोयुक्त सेवा पहचान पत्र, सांसदों, विधायकों, विधान परिषद सदस्यों को जारी किए गए सरकारी पहचान पत्र और भारत सरकार के सामाजिक न्याय मंत्रालय की ओर से दिव्यांगजनों को जारी यूनिक डिस एबिलिटी आईडी शामिल है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने लोगों से शत प्रतिशत मतदान करने की अपील की है।

 

प्रदेश में इस वर्ष मतदान पर नजर रखने के लिए पोल डे मानिटरिंग सिस्टम (पीडीएमएस) लागू किया गया है। इसके माध्यम से मतदान के दिन होने वाली सभी गतिविधियों के बारे में जानकारी मिल सकेगी। सभी पीठासीन अधिकारी मतदान गतिविधियों की सूचना जिला अथवा राज्य स्तर पर बने कंट्रोल रूम तक पहुंचाते रहेंगे।

प्रदेश में शुक्रवार को मतदान होना है। मतदान की सभी गतिविधियों पर नजर रखने के लिए इस बार पीडीएमएस लागू किया गया है। यह एक पोर्टल पर है, जिस पर पीठासीन अधिकारी व सहायक पीठासीन अधिकारी सभी सूचनाओं को अपडेट करते रहेंगे। यह प्रक्रिया मतदान कराने के लिए ईवीएम प्राप्त करने से शुरू हो जाएगी। पीठासीन अधिकारी ईवीएम प्राप्त करने की सूचना भी इसमें दर्ज करेंगे। मतदान केंद्र पर पहुंचने की सूचना भी इसमें दर्ज की जाएगी।

मतदान के दिन सुबह मशीनों को स्थापित करने और माक पोल से संबंधित जानकारी भी इसके जरिये साझा की जाएगी। यदि इस दौरान किसी ईवीएम में कोई दिक्कत या परेशानी आती है तो इसकी सूचना भी तुरंत इसमें साझा जाएगी। इसके बाद प्रत्येक दो घंटे में इसके जरिये मतदान की सूचना जिला व मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय को प्रेषित की जाएगी। इसके लिए पीठासीन अधिकारी अपने मोबाइल से सीधे पोर्टल पर अपडेट कर सकते हैं। साथ ही वह एसएमएस के जरिये भी इसकी सूचना साझा कर सकते हैं।

इसका इस्तेमाल विधानसभा चुनाव में किया गया था, उस दौरान इसमें जो दिक्कतें सामने आई थी उन्हें दूर करते हुए इसे अपडेट किया जा रहा है। इस बात का भी ध्यान रखा गया है कि यदि कहीं सिग्नल मिलने में दिक्कत आती है तो सेटेलाइट फोन अथवा वाकी टाकी की मदद से नजदीकी दूसरे मतदान केंद्र को मतदान संबंधी जानकारी दी जा सकती है, जो इन्हें जिला अथवा निर्वाचन अधिकारी कार्यालय को उपलब्ध करा देंगे।

पूरी प्रक्रिया सही चल रही है, इस पर सेक्टर मजिस्ट्रेट नजर रखेंगे। अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी विजय कुमार जोगदंडे ने बताया कि पीडीएमएस के जरिये मतदान संबंधी सभी सूचना मिलती रहेंगी। यदि कोई समस्या आती है तो उसे भी जल्द दूर किया जा सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top