Headline
लोकसभा चुनाव 2024- आज 83,37,914 मतदाता करेंगे 55 प्रत्याशियों का भाग्य तय 
रोजगार सृजन की गति भी बढ़नी चाहिए
धन दा के आंगन में खिले कमल के पांच फूल
आईपीएल 2024- मुंबई इंडियंस और पंजाब किंग्स के बीच मुकाबला आज 
उत्तराखंड की सभी पांच संसदीय सीटों के लिए कल एक साथ होगा मतदान 
नागपुर में बोले नितिन गडकरी, दलित और मुस्लिम मुझे वोट न दें.. अगर मैंने, यहां देखें वीडियो
टिहरी से भाजपा प्रत्याशी किसी के सुख- दुख की भागीदार नहीं रही- कांग्रेस
लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा ने जारी की एक और कैंडिडेट लिस्ट
मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजी के निदेशक डॉ. योगेन्द्र सिंह की सहारनपुर और हरिद्वार में कार्डियोलॉजी ओपीडी सेवाएं शुरू

पीएम मोदी पहुंचे भूटान, हुआ भव्य स्वागत, दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय मामलों पर होगी चर्चा

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज पड़ोसी देश भूटान में दो दिन की यात्रा के लिए पहुंच चुके हैं। ये एक राजकीय यात्रा हैं। भूटान पहुंचते ही पीएम मोदी ने भूटान नरेश जिग्मे खेसर नामग्याल वांगचुक और उनके पिता जिग्मे सिंग्ये वांगचुक से मुलाकात की। सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिनों के लिए भूटान पहुंचे हैं। शनिवार को वो वापिस दिल्ली में लौटेंगे। भूटान के एयरपोर्ट पर पहुंचते ही पीएम मोदी का भव्य स्वागत किया गया। पीएम मोदी की ये यात्रा ‘पड़ोसी प्रथम नीति’ पर आधारित है। बता दें कि विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने मंगलवार यानी 19 मार्च को यह सूचना दी थी कि भारत और भूटान एक अनूठी साझेदारी साझा करने जा रहा है, जो आपसी विश्वास, समझ और सद्भावना पर आधारित है। जानकारी के मुताबिक गुरुवार यानी 22 मार्च को पीएम मोदी के लिए भूटान रवाना हो रहे थे, लेकिन खराब मौसम की वजह से उनकी यात्रा स्थगित कर दी गई थी।

पीएम नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर ट्वीट करते हुए कहा कि मैं आज भूटान के लिए रवाना हो रहा हुं, जहां भारत-भूटान के संबंधों को मजबूती देने के उद्देश्य से विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेने जा रहा हुं। भूटान दौरे के दौरान पीएम मोदी भूटान के महामहिम राजा, महामहिम चतुर्थ ड्रुक ग्यालपो और प्रधानमंत्री शेरिंग टोबगे के साथ कई द्विपक्षीय मामलों पर चर्चा करेंगे। बता दें कि विदेश मंत्रालय के बयान के अनुसार भारत और भूटान एक अनूठी साझेदारी साझा करने जा रहा है, जिसका मकसद आपसी संबंधों को मजबूती देना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top