Headline
शेयर बाजार में बढ़त बरकरार, सेंसेक्स 200 अंक चढ़ा, निफ्टी 23600 के पार
नैनीताल, भीमताल और कैंची धाम जाने वाले लोगों के लिए जरुरी खबर, पुलिस ने जारी किया नया यातायात प्लान 
हल्द्वानी की दो नाबालिग हुई लापता, परिजनों ने मोहल्ले के किशोर पर लगाया भगाने का आरोप
आंखों के काले घेरों से छुटकारा चाहते हैं? आजमाएं ये प्रभावी घरेलू नुस्खे
योग, प्राणायाम की छात्र छात्राओं के मानसिक, शाररिक और व्यक्तित्व विकास में महत्वपूर्ण भूमिका- अरुण चमोली
देश में लागू हुआ एंटी पेपर लीक कानून, अधिसूचना जारी 
सीएम धामी ने पैतृक गांव डीडीहाट पहुंचकर स्वजनों से की भेट
गर्मी से हाल बेहाल और जल संकट
नशा मुक्त भारत अभियान के लिए योग एवं प्राणायाम की भूमिका अहम – ललित जोशी

प्रियंका गांधी ने पीएम मोदी पर लगाए गंभीर आरोप, बोलीं- ‘हिमाचल में सरकार गिराने के लिए किया था धन-बल का इस्तेमाल’

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने  हिमाचल प्रदेश का दौरा किया और चंबा में एक रैली को संबोधित किया. इस दौरान प्रियंका गांधी ने केंद्र की भाजपा सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कई गंभीर आरोप लगाए. प्रियंका ने आरोप लगाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हिमाचल प्रदेश में लोकतांत्रिक रूप से चुनी गई कांग्रेस सरकार को गिराने के लिए धन-बल का इस्तेमाल कर हरसंभव प्रयास किए. उन्होंने दावा किया कि प्रधानमंत्री मोदी समेत भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेताओं का एकमात्र मकसद किसी भी कीमत पर सत्ता हासिल करना है. प्रियंका गांधी ने ये आरोप कांगड़ा लोकसभा सीट से पार्टी के उम्मीदवार आनंद शर्मा के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित करते हुए लगाया. उन्होंने कहा, ‘मोदी ने राज्य में लोकतांत्रिक तरीके से चुनी गई कांग्रेस सरकार को भ्रष्ट आचरण के जरिए और धन बल का इस्तेमाल कर गिराने का हरसंभव प्रयास किया।’

बागी विधायक को दिए 100 करोड़ रुपये
कांग्रेस महासचिव ने रैली में मौजूद लोगों की भीड़ से सवाल किया कि क्या वे ऐसे नेता को पसंद करेंगे? कांगड़ा जिले में एक और रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने हिमाचल में फरवरी-मार्च में हुए राजनीतिक उथल-पुथल का जिक्र किया और आरोप लगाया कि भाजपा ने (कांग्रेस के) प्रत्येक (बागी) विधायक को 100 करोड़ रुपये दिये थे. प्रियंका ने कहा कि पिछले दो साल में, हिमाचल में दो बड़ी घटनाएं हुईं जिसने कांग्रेस और भाजपा का असली चेहरा प्रदर्शित किया है. उन्होंने कहा, ‘पिछले साल मानसून की सबसे भयावह आपदा आई थी, जब कांग्रेस का हर नेता और कार्यकर्ता जमीन पर था, जबकि भाजपा कहीं नजर नहीं आ रही थी. दूसरी घटना, भाजपा द्वारा पैदा की गई राजनीतिक उथल-पुथल थी, जिसने चुनी हुई सरकार को गिराने की कोशिश की…विधायकों को 100-100 करोड़ रुपये दिए गए, रात में चोरों की तरह छिपकर चंडीगढ़ के एक होटल में ले जाया गया।’’

हिमाचल के प्रति उदासीन है भाजपा सरकार
कांग्रेस नेता ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार हिमाचल के प्रति उदासीन है और उसने आपदा के दौरान राहत कार्यों के लिए एक पैसा भी नहीं दिया और जो धनराशि मिलनी चाहिए थी उसे भी रोक दिया क्योंकि लोगों ने विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को वोट दिया था. प्रियंका ने आपदा प्रभावित परिवारों से मुलाकात की थी. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी दावा करते हैं कि हिमाचल उनका दूसरा घर है, लेकिन उन्होंने आपदा के दौरान एक बार भी राज्य का दौरा नहीं किया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस 55 साल तक सत्ता में रहने के बावजूद सबसे अमीर पार्टी नहीं बन सकी, वहीं दूसरी ओर, भाजपा मात्र 10 साल में दुनिया की सबसे अमीर पार्टी बन गई।

प्रियंका ने कहा कि एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि भाजपा ने पिछले एक या दो साल में 60,000 करोड़ रुपये खर्च किए. उन्होंने राज्य के साथ अपने लगाव पर भी बात की. उन्होंने कहा, ‘मेरा दिल हिमाचल प्रदेश में है. यह एक खूबसूरत राज्य है जो अपनी संस्कृति और ईमानदारी के लिए जाना जाता है. देश को हिमाचल प्रदेश से सीखना चाहिए.’ प्रधानमंत्री मोदी पर अपने करोड़पति दोस्तों को कोयला खदान, बंदरगाह और हवाई अड्डे जैसी राष्ट्रीय संपत्तियां बांटने का आरोप लगाते हुए प्रियंका ने कहा कि यह पैसा जुटाने के लिए किया जा रहा है, जिसकी जरूरत भाजपा को विधायकों की खरीद फरोख्त कर सरकारें गिराने और टेलीविजन चैनल चलाने के लिए पड़ती है. यह दावा करते हुए कि केंद्र की सभी नीतियों और योजनाओं का उद्देश्य अमीरों को लाभ पहुंचाना है, उन्होंने आरोप लगाया कि अग्निपथ सैन्य भर्ती योजना रक्षा क्षेत्र में करोड़पतियों के हस्तक्षेप का मार्ग प्रशस्त करने के लिए लाई गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top