Headline
आरटीआई से सरकारी कार्मिकों में ईमानदारी से कार्य करने की प्रवृति बढ़ती है – मुख्य सचिव
मुख्यमंत्री धामी ने सौंग नदी के तट पर जल संरक्षण और संर्वद्धन योजना का किया लोकार्पण
भाजपा ने हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और एमपी में विधानसभा उपचुनाव के लिए जारी की उम्मीदवारों की लिस्ट
कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी का कैम्पटी पहुंचने पर स्वागत करते नैनबाग मंडल के पदाधिकारि एवं स्थानीय लोग
26 जून को होगा लोकसभा स्पीकर का चुनाव
कुवैत के हादसे में मारे गए भारतीयों के शवों को अंतिम संस्कार के लिए लाया गया भारत
मीठी ड्रिंक्स की लालसा को कम करने के लिए अपनाएं ये 5 प्रभावी तरीके
वनाग्नि की चपेट में आकर झुलसे चार वन कर्मियों को एम्स दिल्ली किया जा रहा शिफ्ट
बढ़ती गर्मी से परेशान पर्यटक मसूरी पहुंचने के लिए कर रहे कड़ी मशक्कत, घंटों इंतजार के बाद मिल रही बस

नशे के खिलाफ होगी जंग, क्रिकेट में युवा दिखाएंगे दम

– यूपीएल सीजन -2 का आगाज, 12 टीमें लेंगी भाग

– युवाओं को एक नई दिशा देगा यूपीएल- ललित जोशी

देहरादून। राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में उत्तराखंड प्रो लीग (यूपीएल) सीजन दो का आगाज हो गया है। यहां दो दिन खिलाड़ियों का ट्रायल किया जाएगा। इसके बाद टीमों के लिए खिलाड़ियों का चयन होगा। यूपीएल में आईपीएल की तर्ज पर खिलाड़ियों की बोली लगेगी। इसके लिए बेस प्राइस पांच हजार से पांच लाख तक निर्धारित किया गया है। प्रतियोगिता की विजेता टीम को आठ लाख, दूसरे स्थान पर रहने वाली टीम को पांच और तीसरे स्थान पर रहने वाली टीम को तीन लाख का इनाम दिया जाएगा। प्रतियोगिता का उद्घाटन आईजी आनंद शंकर टकवाले, पूर्व आईजी यूकेएसएसएससी के चेयरमैन गणेश सिंह मार्ताेलिया और आईजी विमला गुंजाल ने किया।

प्रतियोगिता में प्रदेश के सभी 13 जिलों के खिलाड़ी प्रतिभाग कर रहे हैं। पहले दिन के ट्रायल में 374 खिलाड़ियों ने प्रतिभाग किया। प्रतियोगिता में 12 टीमें भाग लेंगी। प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए दूरस्थ गांवों के युवा भी ट्रायल देने के लिए आए थे। इस मौके पर सीआईएमएस एंड यूआईएचएमटी ग्रुप ऑफ़ कॉलेज के चेयरमैन ललित जोशी ने कहा कि इस प्रतियोगिता की थीम ‘नशे को ना और खेल को हां‘ है। उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता से ग्रामीण प्रतिभाओं को भी मंच मिलेगा साथ ही उन्हें पुरस्कार के तौर पर रकम भी दी जाएगी। 12 टीमों के 12 ओनर होंग और खिलाड़ियों की बोली लगेगी। गौरतलब है कि ललित जोशी और आरोग्यम अस्पताल के चेयरमैन संदीप केडिया देहरादून कैपिटल के ओनर हैं।

स्लेक्टर की भूमिका भगवान सिंह बोरा और लक्ष्मण सिंह बिजवान,अंजली पुरोहित,कविता चंद,प्राची जमलोकी ने निभाई। मंच का संचालन प्रियांशी दुबे और प्रशांत ने किया। इस मौके पर यूपीएल के फाउंडर चेयरमैन डी बी चंद ने बताया कि सीजन एक रुद्रपुर में खेला गया था। इसके बाद अब देहरादून में प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। उनहोंने कहा कि इस तरह की प्रतियोगिता से जहां युवा खिलाड़ियों को मंच मिलेगा वहीं उन्हें नशे से भी दूर रखा जा सकता है।

यूसीएल के अध्यक्ष जगजीवन कन्याल ने बताया इस लीग का उद्देश खिलाड़ियों को गांव गली से स्टेडियम तक का सफर प्रदान करना हैं। जिसका खिलाड़ियों के लिए रजिस्ट्रेशन ट्रायल बिलकुल निशुल्क है । इस मौके पर प्रथम भारतीय महिला साउथ पोल अंटार्कटिका रीना धर्मसतु, केयर कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग के अध्यक्ष राजकुमार शर्मा, युवा सिंगर रोहित चौहान, सूरज त्राटक, पिथौरागढ़ टीम के ओनर त्रिलोक सिंह कन्याल, बागेश्वर बुल्स के ओनर बसंत कुमार,मनोज जोशी,दीपक पांडे, यूपीएल विष्णु अधिकारी,नवीन चंद ,महेश चंद राजवाल,आदि प्रमुख लोग उपस्थित रहे।

बॉक्स
युवाओं को मिलेगी हैप्पीनेस: आईजी टकवाले
आईजी आनंद शंकर टकवाले ने यूपीएल की सराहना की। उन्होंने कहा कि आज का युवा चाहता है कि उसे हैप्पीनेस मिले और उसकी प्रतिभा का भी सही मूल्यांकन हो। यूपीएल युवाओं को इसका मौका दे रहा है। उनके अनुसार खेलों से दिमाग में हैप्पी हारमोन रिलीज होते हैं। इससे युवाओं को अच्छी ऊर्जा मिलती है। उन्होंने कहा कि इस तरह की प्रतियोगिताओं से प्रतिभाओं को न्याय मिलेगा।

आगे बढ़ने के लिए मंच है यूपीएल: संदीप केडिया
यूपीएल ग्रामीण प्रतिभागियों के लिए आगे बढ़ने के लिए एक मंच प्रदान कर रहा है। यह एक अच्छा अवसर है कि युवा यूपीएल के माध्यम से अपनी प्रतिभा दिखाएं और प्रदेश और देश के लिए खेलने की दिशा में आगे बढ़े। उन्होंने कहा कि हमारा एक मिशन भी है कि युवाओं को नशे की प्रवृत्ति से बचाना। युवा यदि खेलों में प्रतिभाग करेंगे तो उन्हें नशे से दूर रहने में मदद ही मिलेगी।

युवाओं को नशे की प्रवृत्ति से बचाएं: आईजी मर्तोलिया
यूकेएसएसएससी के चेयरमैन पूर्व आईजी गणेश मर्तोलिया ने कहा कि यूपीएल ने खिलाड़ियों को एक अच्छा मंच दिया है। मौजूदा समय में खेलो इंडिया चल रहा है और उत्तराखंड में नेशनल गेम्स का आयोजन होना है। ऐसे में यह एक अच्छा मंच है। उन्होंने कहा कि खेलों से अनुशासन आता है। अनुशासन से ही किसी लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है। उन्होंने युवाओं को नशे की प्रवृत्ति से दूर रहने की नसीहत दी। उन्होंने कहा कि यदि कोई युवा नशे की गिरफ्त में चला गया तो उससे जीवन निरर्थक हो जाएगा। उन्होंने यूपीएल के आयोजकों की सराहना की कि युवाओं को खेलों की ओर मोड़ रहे हैं।

लड़कियां भी किसी क्षेत्र में पीछे नहीं: आईजी विमला गुंज्याल
आईजी विमला गुंज्याल ने कहा कि मौजूदा समय में लड़कियां भी हर क्षेत्र में लड़कों को चुनौतियां दे रही हैं। उन्होंने कहा कि यूपीएल के माध्यम से ग्रामीण युवाओं को एक मंच दिया है। उन्होंने कहा कि यदि हमें इसमे सफलता मिलती है तो आगे बढ़ने के अवसर मिलेंगे। उन्होंने कहा कि युवाओं को नशे से दूर रखने के लिए जागरूकता जरूरी है। यदि यूथ सही दिशा में काम करेंगे तो भविष्य उज्ज्वल ही होगा।

नशा देश की समस्या, समाधान जरूरी: डीबी चंद
यूपीएल के फाउंडर डी बी चंद के अनुसार प्रदेश के सभी जिलों के युवाओं को एक मंच देने का प्रयास किया जा रहा है। हमने युवाओं को नशे से दूर रखने की मुहिम भी चलाई है। यह मुहिम देहरादून कैपिटल के ओनर ललित जोशी की है। हमने उन्हें कहा कि स्लोगन दिया गया है कि नशे को ना, खेल को हां। उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता में सुदूर गांवो ंकी प्रतिभाओं को भी मौका मिल रहा है। उम्मीद है कि यूपीएल से कई खिलाड़ी निकलेंगे और देश दुनिया में उनका नाम होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top