Headline
मुख्यमंत्री धामी ने सौंग नदी के तट पर जल संरक्षण और संर्वद्धन योजना का किया लोकार्पण
भाजपा ने हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और एमपी में विधानसभा उपचुनाव के लिए जारी की उम्मीदवारों की लिस्ट
कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी का कैम्पटी पहुंचने पर स्वागत करते नैनबाग मंडल के पदाधिकारि एवं स्थानीय लोग
26 जून को होगा लोकसभा स्पीकर का चुनाव
कुवैत के हादसे में मारे गए भारतीयों के शवों को अंतिम संस्कार के लिए लाया गया भारत
मीठी ड्रिंक्स की लालसा को कम करने के लिए अपनाएं ये 5 प्रभावी तरीके
वनाग्नि की चपेट में आकर झुलसे चार वन कर्मियों को एम्स दिल्ली किया जा रहा शिफ्ट
बढ़ती गर्मी से परेशान पर्यटक मसूरी पहुंचने के लिए कर रहे कड़ी मशक्कत, घंटों इंतजार के बाद मिल रही बस
पीएम मोदी आज इटली में जी7 शिखर सम्मेलन के ‘आउटरीच सत्र’ को करेंगे संबोधित

लंबे इंतजार के बाद पर्यटकों से गुलजार हुआ चकराता, सड़कों पर लगा वाहनों का तांता 

विकासनगर। चकराता में गुरुवार सुबह साढ़े दस बजे के बाद बर्फबारी शुरू हुई जो ढाई बजे के आसपास थम गई। बर्फबारी होने पर क्षेत्र में पर्यटक पहुंचने लगे हैं। बुधवार को भी जौनसार-बावर के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी हुई। ऊंचाई वाले क्षेत्रों डेढ़ फीट तक बर्फ पड़ी। ऊंचाई वाले क्षेत्रों में दो दिन से हो रही बारिश और बर्फबारी से जहां किसानों, बागवानों को राहत मिलेगी वहीं, बर्फबारी की सूचना पर पर्यटक भी लगातार बर्फ का दीदार करने पहुंच रहे हैं। बुधवार सुबह से क्षेत्र की ऊंची चोटियों पर शुरू हुई बर्फबारी गुरुवार को भी जारी रही। गुरुवार सुबह से लगातार हो रही बर्फबारी से चकराता बाजार में दोपहर दो बजे तक तीन से पांच इंच बर्फ जम गई है। लोखंडी, लोहारी, जाड़ी, कोटी, कनासर, बुल्हाड, अस्माड चोरानी आदि जगहों पर डेढ़ फीट तक बर्फ जमी है, जबकि अधिक ऊंचाई पर बसे देवबन, खडम्बा, मुंडाली व्यास शिखर, मोयला टॉप में दो फीट तक बर्फ पड़ने की सूचना है।

लगातार पड़ रही बर्फ से ऊंचाई पर बसे ग्रामीणों की परेशानी भी बढ़ गई है। लोगों का जनजीवन अस्त व्यस्त होने लगा है। चकराता में बर्फबारी होने से बाजार पर्यटकों से गुलजार रहा। पर्यटकों के आने से चकराता-कालसी मोटर मार्ग और चकराता-मसूरी मोटर मार्ग पर कई जगह जाम लगता रहा पुलिस के जवान व स्थानीय लोग जाम खुलवाने के लिए जुटे रहे। बागवान विजयपाल सिंह रावत, अर्जुन देव बिजल्वाण, महावीर रावत, महाबल सिंह नेगी का कहना है कि बर्फबारी व बारिश से जमीन की नमी तो समाप्त हुई है, साथ ही सेब के पौधों व पेड़ो में डाली खाद को भी फायदा होगा। अब सेब को पर्याप्त चिलिंग ऑवर्स मिलने की उम्मीद है।

चकराता में अधिकतम तापमान चार डिग्री रहा:   बर्फबारी के बाद गुरुवार को चकराता का अधिकतम तापमान चार डिग्री और न्यूनतम शून्य डिग्री पर पहुंचने से लोगों को कड़ाके की सर्दी का सामना करना पड़ रहा है। जबकि लोखंडी का अधिकतम तापमान तीन डिग्री व न्यूनतम तापमान माइनस दो डिग्री पर पहुंच गया है। लोग सर्दी से बचने के लिए हीटर अंगीठी का सहारा ले रहे हैं।

चकराता मार्ग पर लगा जाम:   बर्फ का दीदार करने बड़ी संख्या में पर्यटक चकराता पहुंचने लगे हैं। रास्ते में वाहन फिसल रहे हैं, लिहाजा डर कर लोग सड़क के किनारे वाहन खड़े कर दे रहे हैं, जिसके चलते जाम की स्थिति बन रही है। गुरुवार को चकराता-कालसी मार्ग से लेकर चकराता बस स्टैंड से बाजार जाने वाले मार्ग, चकराता-मसूरी मार्ग व चकराता-त्यूणी मार्ग पर बार बार जाम लगता रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top